Domain name kya hai ।। what is domain in hindi

नमस्कार मित्रो में प्रभु, आज के इस आर्टिकल में हम सिखने जा रहे की domain name kya hai ।  domain कैसे काम करता है ? domain के प्रकार कौन कौन से है ? domain in hindi . एवं subdomain के बारे में भी हम पढ़ेंगे। आप से अनुरोध है की इस आर्टिकल को पूरा मन लगाकर पढ़े जिससे आपको डोमेन से सम्बंधित सारी जानकारी प्राप्त हो सके ।

आपने जब भी कभी इंटरनेट के माध्यम से कुछ भी सर्च किया होगा तो आपने domain को जरूर देखा होगा।  domain किसी भी वेबसाइट का web address अर्थात URL  के रूप में काम करता है।  हम जब भी इंटरनेट पर कुछ भी खोजते है तब हम किसी न किसी डोमेन से रूबरू जरूर होते है।  एक डोमेन पर कई सारे web page होते है तथा एक server से जुड़े रहते है ।

ज्यादातर लोगो को domain kya hai के बारे में जानकारी जरूर होगी।  इसलिए ही मेने सोचा आपको डोमेन से releted सारी जानकरी मुहिया करवा सकू।  अभी हम सीखने वाले है डोमेन से जुडी हर वो जानकारी जो की आपकी जरूर पता होनी चाहिए। 

Domain name क्या है ? what is Domain name in hindi

आपके मन में ये सवाल जरूर उठ रहा होगा की domain name kya hai . तो आज इसके बारे में हम पूरा डिटेल में पढ़ेंगे। बात करे domain name की तो डोमेन किसी न किसी वेबसाइट की एक पहचान होती है ।  domain name से ही हम वेबसाइट को पता कर पाते है ।  आज internet पर मौजूद हर website अपने एक IP address से जुडी होती है।  IP address full form – internet protocol address होता है।  इस आईपी पते के द्वारा ही ब्राउजर को ये पता चल पता है की इंटरनेट के ऊपर ये वेबसाइट कहा पर मौजूद है ।

domain name क्या है ?

सामान्य भासा में अगर आपको डोमिन के बारे में समझाऊ तो , हर व्यक्ति हमेशा आसान भाषा को अच्छी से समज सकता है ठीक वैसे ही domain name भी है । मेरे कहने का मतलब है की हर कोई ip address को याद करके नहीं रख सकता इसलिए डोमेन नाम होता है।  जो की यूजर को अच्छे से समझ आता है।  ip एड्रेस के मुकाबले में यूजर डोमेन को अच्छे से याद रख सकता है । domain name पढ़ने व् देखने में आसान नजर आता है।  डोमेन नाम से वेबसाइट की पहचान हो पाती है।

डोमेन नाम के जरिये आप एक से अधिक ip एड्रेस को खोज पाते है।  अगर हम बात करे गूगल की तो http://google.com/ तो ये बहुत सारे  ip को अपना डोमेन रेफेर करता है।  किसी भी webpage को ढूंढने के लिए डोमेन नाम का use किया जाता है। 

जैसे की आपको बता दे की https://www.prabhubarmer.in/about/ में https://www.prabhubarmer.in एक डोमेन नाम है जो की साइट की पहचान है ।

Domain name कैसे काम करता है ?

आज इंटरनेट पर जितनी भी वेबसाइट है उन सब को एक सर्वर में store यानि की host किया जाता है। तथा जो डोमेन नाम होता है वो उस ip पते से जुड़ा हुआ होता है। 

जब भी कभी आप गूगल से किसी वेबसाइट को सर्च करते है  तब डोमेन का ip एड्रेस के सर्वर को पॉइंट करता है । इस प्रकार आप किसी भी वेबसाइट को देख पाते है। 

domain name के कितने प्रकार होते है ? type of domain in hindi

डोमेन नाम मुख्य रूप से दो प्रकार के होते है।  जिसे आपने जरूर सुना होगा

1 top level domain – TLD

जैसा की हम पहले ही जान चुके है domain name kya hai . अभी हम top level domain in hindi के बारे में जानेंगे। top level domain name को हम इंटरनेट डोमेन एक्सटेंशन भी कह सकते है।  ये वो डोमेन होता है  जिसे गूगल सर्च इंजन में आपको अच्छी रैंक मिल जाती है । इस प्रकार के domain name को गूगल भी support करता है। आसान भाषा में कहे तो डोमेन यूआरएल में DOT के बाद के हिस्से को कहते है। जैसे हमारे वेबसाइट का यूआरएल है www.prabhubarmer.in यहाँ आप देख पा रहे होंगे की prabhubarmer के बाद जो .in लगा हुआ है वो एक टॉप लेवल डोमेन है।  टॉप लेवल डोमेन कई प्रकार के होते है जिनके बारे में हम अभी पढ़ने वाले है।

  • .name (name)
  • .biz (business)
  • .info (information)
  • .com (commercial)
  • .org (organization)
  • .net (network)
  • .gov (government)
  • .edu (education)

 उदाहरण के रूप में समझे तो prabhubarmer.in , google.com , youtube.com

CCTLD – Country Code Top Level domain

इस प्रकार के डोमेन किसी भी country के दो word के एक्सटेंसन को डोमेन के रूप में लिखा जाता है ।  ये किसी भी देश को मध्यनजर रखकर डोमेन नाम बनाया जाता है ।  हम आपको उदाहरण के द्वारा समझा देते है की ये किस प्रकार से है ।

  • .ch: Switzerland
  • .cn: China
  • .ru: Russia
  • .br: Brazil
  • .us: United States
  • .in: India

subdomain name क्या है ?

Subdomain एक तरह से आपके मुख्य domain का एक हिस्सा होता है।  Subdomain को ख़रीदा जाना संभव नहीं है मतलब ये फ्री होता है।  आप अगर कोई भी टॉप लेवल डोमेन खरीदते है तो आप अपने डोमेन को विभाजित भी कर सकते है जिसे Subdomain कहा जाता है।  जैसे अगर मेरा टॉप लेवल डोमेन prabhubarmer.in है जिसे में Subdomain डिवाइड कर सकता ह।  hindi.prabhubarmer.in , english.prabhubarmer.in ऐसे आप कई सरे sub डोमेन बना सकते है।  sub domain के लिए आपको किसी भी तरह का कोई charge देने की कोई जरुरत नहीं है ये बिलकुल फ्री होता है।

ऐसे देखा जाये तो डोमेन कई प्रकार के होते है। परतु इस तरह के डोमेन का ज्यादा उपयोग ब्लॉग या फिर website बनाने के मकसद से नहीं किया जाता है।  ये ज्यादा जरुरी भी नहीं होती इसलिए आपको हमने उन डोमेन के बारे में नहीं बताया। 

आपकी जानकारी के लिए में आपको बता देता हु की आप चाहे तो hindi में भी domain को buy कर सकते है।  jaise prabhubarmer.भारत ऐसे आप हिँदी भाष्य डोमेन भी खरीद सकते है ।

डोमेन तथा URL में क्या फर्क है ?

URL के मुकाबले में डोमेन बहुत ही छोटा है।  डोमेन बहुत बड़े यूआरएल का एक छोटा सा हिस्सा होता है।  पूरा URL डोमेन पर आधारित होता है । पुरे वेब एड्रेस में हम specific page address, folder name, machine name, and protocol language ये सब देखने मिलते है। 

 URL Full Form – Uniform Resource Locator pages होता है ।

आप निचे दिए गए वेब यूआरएल को देख सकते है। हम डोमेन नाम को बोल्ड करके बताते है , परतु बाकि का हिस्सा एक यूआरएल है ।

जैसे की https://www.prabhubarmer.in/types-of-computer/ जिससे prabhubarmer.in  एक डोमेन नाम है। बाकि का हिस्सा एक यूआरएल का है।  इस पुरे एड्रेस को हम URL कहते है ।

डोमेन नाम कहा से ख़रीदे ? Top Domain Name Provider लिस्ट

डोमेन नाम खरीदने के लिए आपको एक अच्छे डोमेन प्रोवाइडर से डोमेन लेना चाहिए।  अगर आप भी चाहते है एक ब्लॉग या फिर बिजनेस वेबसाइट बनाना तो उसके लिए आपको अपने ब्लॉग के लिए एक डोमेन नाम खरीदना पड़ता है।

हम आपको कुछ पॉपुलर कम्पनी के नाम बता देते है जो की डोमेन नाम प्रोवाइड करती है

यहाँ पर आपको बस अपना अकाउंट बना लेना है।  वेबसाइट पर अकाउंट बना लेने के बाद आप अपनी सुविधानुचर कोई भी डोमेन यहाँ से buy कर सकते है।

  • In
  • Znetlive
  • EWeb Guru
  • IPage
  • Bigrock
  • GoDaddy
  • Com
  • Namecheap
  • 1and1

इन वेबसाइट के जरिये आप अपना डोमेन ragistration करवा सकते है।

domain name  कैसा बनाये ?

डोमेन खरीदते समय एक बात का ध्यान अवश्य रखे की आप जो भी डोमेन खरीदने जा रहे है वो ज्यादा लम्बा न हो । अगर आप ज्यादा लम्बा डोमेन खरीदते है तो उसे पढ़ने में भी प्रॉब्लम होती है साथ ही गूगल भी ऐसे डोमेन पर ज्यादा ध्यान नहीं देता।  अगर आपका डोमेन sort में लिखा हुआ है तो आपको रैंक करने में थोड़ी आसानी मिलेगी। 

हमेशा ऐसे डोमेन का चुनाव करे जो आसानी से याद भी हो जाये तथा आसानी से लिखा भी जा सके। 

ऐसे डोमेन का चयन कभी नहीं करना चाहिए जो किसी और के डोमेन से मिलता झूलता हो । अगर आप लम्बे समय के लिए काम करना चाहते है तो आपको एक unique domain का चयन करना होगा। 

कभी भी अपने डोमेन में hyphen and numbers जैसे स्पेशल कैरेक्टर का उपयोग न करे ।

कभी भी फ्री डोमेन के चक्कर में मत रहीये , हमेशा टॉप लेवल डोमेन ही ख़रीदे जिससे सभी रूबरू हो । 

ऐसे डोमेन का चयन करे जो आपके कम्पनी या आपके ब्रांड से मिलता झूलता हो।  इससे आपको आगे आसानी होगी ।

आज के इस आर्टिकल के द्वारा हमने आपको डोमेन से जुडी हर वो जानकारी साझा की जो आपके लिए हेल्पफुल थी।  हमने पूरा प्रयास किया की आपको डोमेन से जुडी सारी जानकारी मुहिया कराइ जाये ।

By Writer

इस लेख में हमने सीखा की domain name kya hai , तथा domain name system in hindi , domain कैसे काम करता है  ? domain नाम कैसे ख़रीदे , डोमेन नाम व् sub domain में क्या फर्क है ? URL किस तरह से डोमेन से अलग है  ? type of domain in hindi के बारे में पूरी जानकारी देने की कोशिस करि है।

हम आशा करते है की आपको हमारे इस लेख से आपको कुछ सिखने को मिला होगा । अगर आप इस जानकारी से संतुष्ट है तो ऐसे facebook , twitter जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर जरूर साझा करे ।

धन्यवाद

हमारी वेबसाइट पर विजिट करने के लिए आपका दिल से आभार

 

Read also

 

Leave a Comment